मीडिया द्वारा लगातार बिना तथ्यों के कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लगाए जा रहे थे लेकिन अब इसी मामले में एक नया मोड़ आ गया है आपको बता दें सीबीआई को अपराध स्थल के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के स्थान और उपस्थिति को स्थापित करने में अब नई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है जहां उन्होंने उन्नाव में 17 वर्षीय लड़की के साथ कथित रूप से बलात्कार किया लेकिन घटनास्थल पर कुलदीप सिंह सेंगर की लोकेशन नहीं मिल रही है

जानी मानी कंपनी एप्पल ने दिल्ली की एक अदालत को बताया कि उसके पास अपराध के दिन कुलदीप सिंह सेंगर के स्थान का कोई विवरण नहीं है जो मामले के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है एप्पल इंक के वकील ने अदालत को बताया कि उसके पास कुलदीप सिंह सेंगर के स्थान के बारे में कोई डाटा नहीं था जो एक आईफोन का उपयोग कर रहा था

कथित रूप से रेप पीड़िता के अनुसार 4 जून 2017 को उसे नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सिंह सेंगर के घर पर उसकी मौसी के यहां ले जाया गया था लेकिन घर पहुंचने के बाद विधायक द्वारा आठ 8:30 बजे के बीच उसके साथ बलात्कार किया गया हालांकि सूत्रों का कहना है कि सेंगर के फोन से रात 8:03 और रात 8:29 बजे दो कॉल मिली थी और दोनों कॉल की लोकेशन क्राइम लोकेशन से अलग थी यानी जिस जगह घटना हुई वहां पर कुलदीप सिंह सेंगर की लोकेशन नहीं थी
सूत्रों के अनुसार बांगरमऊ विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के दूसरे फोन से स्थान को स्थापित करने में मदद मिल सकती थी जिसके लिए अदालत में याचिका दायर की गई थी हालांकि एक जवाब में एप्पल ने अदालत को सूचित किया कि उनके पास फोन का जीपीएस स्थान नहीं है

आपको एक महत्वपूर्ण जानकारी बता दे कुलदीप सिंह सेंगर की दूसरी लोकेशन उसी दिन कथित अपराध के समय आसपास उन्नाव और कानपुर में पाई गई है सूत्रों के अनुसार 4 जून की शाम को सेंगर उन्नाव के शुक्लागंज में गंगा आरती के लिए गए थे जो अपराध स्थल से 17 किलोमीटर दूर है और बाद में वह एक सार्वजनिक समारोह में भाग लेने के लिए कानपुर में थे।

साभार: इंडिया टुडे, आज तक