नमस्कार आपका स्वागत है ट्रुथ बुलेटिन पर

आपको बताते चलें कुछ महीनों पहले जब उन्नाव की कथित पीड़िता अपने चाचा से मिलने जेल जा रही थी तो उसकी गाड़ी और ट्रक के बीच टक्कर हो गई जिसके बाद कुलदीप सिंह सेंगर को हत्यारा साजिशकर्ता और ना जाने क्या क्या कहा गया कुछ लोग तो उनके खिलाफ जंतर-मंतर पर प्रदर्शन भी कर रहे थे कई राजनीतिक पार्टियां राजनीतिक रोटियां सेकने में लगी थी यह लोग कुलदीप सिंह सेंगर को हत्यारा साबित करने में इतना मगरूर हो चुके थे कि बिना तथ्यों बिना सबूतों बिना सीबीआई जांच के सिंगर को फांसी पर लटकाने की बात कर रहे थे लेकिन सीबीआई की रिपोर्ट आने के बाद सभी के मुंह पर ताला लग गया

आपको बता दें कथित पीड़िता की कार से ट्रक में टक्कर लगने के कारण सुप्रीम कोर्ट में यह मामला जल्द से जल्द खुद के संज्ञान में ले लिया था जिसके बाद न्यायालय ने सीबीआई को जांच के आदेश दिए लेकिन जांच से पहले ही कथित पीड़िता और उसके वकील को मदद राशि दे दी

सभी का लगभग यही मानना था कि दुर्घटना जानबूझकर कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा कराई गई है लेकिन सभी के मुंह पर ताला तब लगा जब सीबीआई अपना भरपूर समय लेते हुए चार्जशीट दाखिल कर कुलदीप सिंह सिंगर को क्लीन चिट दे देती है आपकी जानकारी के लिए बता दें ट्रक के ड्राइवर और कंडक्टर दोनों का नार्को टेस्ट भी हुआ है और ट्रक ड्राइवर पर यह धाराएं लगाई गई हैं धारा 304 ए (लापरवाही से मौत), 338 (दुखद चोट के कारण) और 279 (रैश ड्राइविंग)।

जैसे ही कुलदीप सिंह सेंगर को क्लीन चिट मिली हमने तुरंत अपने संवाददाता को उन्नाव भेजा और उन्नाव में जो हमें जानकारी मिली आप जानकर दंग रह जाएंगे आपको बता दें कि कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव के बांगरमऊ विधानसभा सीट से विधायक हैं जब हम उनकी विधानसभा में गए और हमने लोगों से बात की तो हमें कुछ और ही पता चला वहां पर 100 में से 90 लोगों का कहना था कुलदीप सिंह सेंगर को फसाया गया है बाकी 10 सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं और आपको बता दें 100 में से ही एक व्यक्ति ऐसे थे जिन्होंने कई तथ्य भी दिए कि कुलदीप सिंह सेंगर क्यों निर्दोष है

1. सबसे पहले उन्होंने बताया कि लड़की ने 164 बयान में लगातार झूठ बोला क्योंकि हर जगह उसके बयान बदलते नजर आ रहे हैं

2. दूसरा तथ्य उनका यह था कि क्या मां के कहने के अनुसार इस देश में उम्र का निर्धारण किया जाएगा जबकि शैक्षिक प्रमाण पत्र व मेडिकल प्रमाण पत्र के अनुसार कथित पीड़िता की आयु 19 वर्ष से ऊपर है

3. उनका कहना है कि सूत्रों के मुताबिक उनके फोन की लोकेशन के अनुसार जिस दिन कथित पीड़िता बलात्कार होने का दावा कर रही है उस दिन विधायक कुलदीप सिंह सेंगर शुक्लागंज के गंगा दशहरा मेला में थे जो कि घटनास्थल से 17 से 20 किलोमीटर दूर है

4. उस व्यक्ति का यह भी कहना है कि कथित पीड़िता ने पहले मुख्यमंत्री को जो पत्र लिखा उसमें घटना का समय दोपहर 2 बजे का बताया था ,उस समय के अनुसार पर कार्रवाई भी हुई , परंतु बाद में उसने CBI में वह समय बदलकर शाम 8 बजे का कर दिया.

5. साथ ही साथ उन्होंने यह भी बताया की विधायक कुलदीप सिंह सेंगर किसी भी पार्टी से किसी भी विधानसभा से चुनाव लड़ ले तो उन की जीत निश्चित होती है जनता का लगातार विश्वास उन पर बढ़ा है

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि वह लगातार चौथी बार विधायक बने थे

इस मामले पर अभी कुछ भी कहना उचित नहीं होगा क्योंकि कई लोग इस मुद्दे को लेकर भ्रमित है उन्हें इसकी सच्चाई नहीं पता है लेकिन जब भी कोई संवाददाता जमीन पर आकर लोगों से बातचीत करता है तो उसे कुछ और ही पता चलता है आप सभी से ट्रुथ बुलेटिन करबध्य निवेदन करता है किस सिर्फ और सिर्फ कोर्ट के आदेश का इंतजार करें ।